You are here
Home > GENERAL STUDIES NOTES > INDIAN GEOGRAPHY NOTES > ईंधन खनिज Fuel minerals (Ch-58)

ईंधन खनिज Fuel minerals (Ch-58)

कोयला
– आधुनिक सभ्यता के विकास का आधार कोयला है हमारे देश के कुल विद्युत उत्पादन का 67% कोयला से होता है।
– गोंडवाना काल में भूकंपीय गतिविधि या किसी अन्य कारण से बड़े बड़े पेड़ धरातल के नीचे दब गए तथा ऑक्सीजन से संपर्क टूट जाने के कारण उनका क्षय होना बंद हो गया लेकिन चट्टानों के ताप एवं दबाव के कारण ये पेड़ चट्टान का रूप धारण कर लिए अर्थात कोयला।
– भारत में कोयला मुख्य रूप से पूर्वी भारत में पाया जाता है जिसका निर्माण गोंडवाना काल में हुआ था अतः इसे गोंडवाना काल का कोयला कहते हैं।
– देश में कोयले का वर्तमान भंडार – 285 अरब टन
– हमारे देश में कुल कोयला उत्पादन का 77% भाग ताप विद्युत गृहो में प्रयोग होता है।
ताप विद्युत के तीन आधार हैं।
1- कोयला
2- पेट्रोलियम
3- प्राकृतिक गैस
लेकिन ताप विद्युत का सबसे बड़ा आधार कोयला है।
– भारत में व्यवसायिक ऊर्जा खपत में कोयला का योगदान – 67%
– आधुनिक तरीके से कोयला निकालने का प्रथम प्रयास – रानीगंज में (पश्चिम बंगाल)
– भारत में कोयला दो तरह की चट्टानों में पाया जाता है।
1- गोंडवाना क्रम की चट्टान – 98%
2- टर्शियरी चट्टानों में          – 2%
– कोयला के चार प्रकार होते हैं।
1- एंथ्रासाइट – सर्वोत्तम कोयला, कार्बन की मात्रा अधिक 85%, तापमान अधिक, नमी कम, धुआं कम
2- बिटुमिनस – गोंडवाना युगीन कोयला, पूर्वी भारत में उड़ीसा, झारखंड, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़ राज्यो में
भारत का 90% से अधिक कोयला बिटुमिनस परकार का है द्वितीयक श्रेणी का कोयला कार्बन 55 – 65 %
3- लिग्नाइट
4- पीट
– गोंडवाना कोयला बिटूमिनस प्रकार का है और यह छोटानागपुर पठार क्षेत्र में मुख्यतः चार राज्य में पाया जाता है। – झारखंड, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़
– टर्शियरी कोयला एंथ्रेसाइट प्रकार का है और यह मुख्यतः जम्मू-कश्मीर के कारगिल क्षेत्र में पाया जाता है। (जास्कर श्रेणी पर)
– हमारे देश में कोयला मुख्य रूप से प्रायद्वीपीय भारत या दक्षिण भारत की नदी घाटियों में मिलता है।
1- दामोदर नदी घाटी कोयला क्षेत्र
– दामोदर नदी घाटी का कोयला दो राज्यों में पाया जाता है। 1-  झारखंड, 2-पश्चिम बंगाल
2- सोन नदी घाटी कोयला क्षेत्र – 2 राज्य
मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़
3- महानदी घाटी कोयला क्षेत्र –
  छत्तीसगढ़, उड़ीसा
4- ब्राह्मणी नदी घाटी कोयला क्षेत्र – उड़ीसा
5- गोदावरी नदी घाटी कोयला क्षेत्र – आंध्र प्रदेश
भारत में राज्यवार कोयला क्षेत्र इस प्रकार है।
1- रानीगंज कोयला क्षेत्र – दामोदर घाटी में, पश्चिम बंगाल
यह देश का सबसे महत्वपूर्ण कोयला क्षेत्र है क्योंकि देश का 35% कोयला उत्पादन कहां से होता है।
2- झरिया कोयला क्षेत्र
– झारखंड के धनबाद जिला में
– दामोदर नदी घाटी में
– झारखंड का सबसे बड़ा कोयला क्षेत्र
3- गिरिडीह कोयला क्षेत्र
– झारखंड में दामोदर नदी घाटी क्षेत्र में
4- बोकारो कोयला क्षेत्र
– झारखंड के हजारीबाग में
– दामोदर नदी घाटी क्षेत्र में
5- सिंगरौली कोयला क्षेत्र
– मध्य प्रदेश में सोन नदी घाटी कोयला क्षेत्र
6- सोहागपुर कोयला क्षेत्र
– मध्य प्रदेश में सोन नदी घाटी कोयला क्षेत्र
7- तातापानी और रामकोला कोयला क्षेत्र
–  छत्तीसगढ़ में सोन नदी घाटी क्षेत्र में
8- कोरबा कोयला क्षेत्र – छत्तीसगढ़, महानदी घाटी में
9- तलचर कोयला क्षेत्र – उड़ीसा में ब्राह्मणी नदी घाटी में
10- सिंगरैनी कोयला क्षेत्र – आंध्र प्रदेश में गोदावरी नदी घाटी में
11- कालाकोड कोयला क्षेत्र – j&k
12- उमसार कोयला क्षेत्र  – गुजरात
13- नीचाहोम कोयला क्षेत्र – j&k
14- बरकला कोयला क्षेत्र – केरला
15- नागचीकनाम कोयला क्षेत्र – अरुणाचल प्रदेश

Comments

comments

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top