You are here
Home > GENERAL STUDIES NOTES > दाल की फसलें INDIAN GEOGRAPHY (CH – 44)

दाल की फसलें INDIAN GEOGRAPHY (CH – 44)

दलहनी फसलें

– दलहनी फसलें लेग्यूमेनेसी कुल की फसलें हैं। लेग्यूमेनेसी कुल की फसलों की विशेषता होती है कि उनकी फसलों की जड़ों में ग्रंथियां पाई जाती हैं। तथा इन ग्रंथों में राइजोबियम नामक जीवाणु सहजीवन करता है राइजोबियम नामक जीवाणु वायुमंडलीय नाइट्रोजन का मिट्टी में स्तरीकरण करके मिट्टी को नाइट्रेट की आपूर्ति करता है और इस प्रकार से मिट्टी में नाइट्रेट की मात्रा बढ़ाकर दलहनी फसलें मिट्टी की उर्वरता को बढ़ाती हैं। परंतु अन्य फसलें मिट्टी की उर्वरता को घटा देती हैं।
यही कारण है कि दलहनी फसलों को यूरिया और नाइट्रेट के छिड़काव की जरूरत नहीं पड़ती है।
– दलहनी फसल को फसल चक्र में सर्वाधिक महत्वपूर्ण माना गया है फसल चक्र का उद्देश्य मिट्टी की खोए हुए पोषक मान को वापस करना है। किसी खाद्दान को काटने के पश्चात वह मिट्टी के पोषक तत्वों को अवशोषित कर लेती है जिससे मिट्टी की उर्वरता घट जाती है तथा इसके पश्चात दलहनी फसलों को रोकने पर पुनः मिट्टी की उर्वरता प्राप्त हो जाती है ताकि अगली खाद्यान्न फसल के लिए मिट्टी में पोषक मान बना रहे।
अर्थात, खरीफ – दलहन – रबी
– एक फसल द्वारा मृदा से लिए गए पोषण मान को मिट्टी में वापस करने हैं ताकि अगली फसल के लिए मृदा में पोषक बना रहे।

प्रमुख दलहन फसलें

अरहर, चना, मटर, मसूर – रबी
सोयाबीन, मूंग, उड़द, लोबिया – खरीफ
सोयाबीन, मूंग, उड़द – जायद ऋतु में भी
अतः दालो की खेती तीनों फसल ऋतु में की जाती है।
– सर्वाधिक दलहन उत्पादक राज्य – मध्यप्रदेश

दलहन के फसलवार उत्पादन में राज्यों का स्थान


– समग्र दलहन  –  मध्यप्रदेश
– सोयाबीन       – मध्यप्रदेश
– इसलिए मध्यप्रदेश को सोया राज्य कहते है
– चना               – मध्यप्रदेश
– अरहर            – महाराष्ट्र
– मसूर              – up
– दालों के उत्पादन और उपभोग दोनों में भारत का प्रथम स्थान है लेकिन इसके बावजूद कृषि उत्पादों में सर्वाधिक आयात दालों का है क्योंकि शाकाहारी जनसंख्या की प्रोटीन प्राप्ति का प्रमुख साधन दाल है। अतः हमारे देश में दाल की अत्यधिक खपत के कारण दाल आयात करना पड़ता है।
– दलहन फसलों में सबसे ज्यादा प्रोटीन सोयाबीन में पाया जाता है। ; 40% प्रोटीन और 20% तेल
– विश्व में सोयाबीन का सर्वाधिक उत्पादन क्रमशः – USA ब्राजील
– भारत में सोयाबीन का सर्वाधिक उत्पादक राज्य – मध्य प्रदेश

भारत में दलहनी फसलों में सर्वाधिक उत्पादन सोयाबीन का ही होता है।

– आशा     – अरहर की लोकप्रिय किस्म
– अपर्णा    – मटर की पतिविहीन किस्म
– सम्राट     – चने की लोकप्रिय किस्म
– गरिमा     – मसूर की लोकप्रिय किस्म

Load 5,000 Or More Amazon Pay Balance Get 250rs Extra Cashback Instantly

Comments

comments

3 thoughts on “दाल की फसलें INDIAN GEOGRAPHY (CH – 44)

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top