You are here
Home > GENERAL STUDIES NOTES > आस्ट्रेलिया महाद्वीप का अध्ययन (विश्व भूगोल अध्याय-14 )

आस्ट्रेलिया महाद्वीप का अध्ययन (विश्व भूगोल अध्याय-14 )

– आस्ट्रेलिया एकमात्र ऐसा महाद्वीप है, जो पूरी तरह से दक्षिण गोलार्ध में है तथा मकर रेखा (231/2° दक्षिणी अक्षांस) आस्ट्रेलिया महाद्वीप के बीचो बीच गुजरती है।

– आस्ट्रेलिया महाद्वीप को द्विपीय महादेश भी कहते है।

आस्ट्रेलिया महाद्वीप सबसे छोटा महाद्वीप है।

– आस्ट्रेलिया में पूर्वी तट के साथ साथ उतर से दक्षिण तक विस्तृत पर्वत को ग्रेट डिवाइडिंग रेंज कहते है। इसे “आस्ट्रेलियन आल्प्स” भी कहते हैं।

ग्रेट डिवाइडिंग रेंज विश्व का चौथा सबसे लंबा पर्वत श्रेणी है।

1)- एंडीज

2- राकीज

3- हिमालय

4- ग्रेट डिवाइडिंग रेंज

– ग्रेट डिवाइडिंग रेंज या आस्ट्रेलिया आल्प्स की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट कोस्युस्को है।

– ग्रेट डिवाइडिंग रेंज से डार्लिंग और मरे नदिया निकलती हैं, जिनकी धारा आगे जाकर मिल जाती हैं, तो इनकी संयुक्त धारा को मरे – डार्लिंग नदी कहते है तो दोनों की संयुक्त धारा को या मरे डार्लिंग नदी एडिलेट शहर के पास दक्षिणी तट पर गिरती है। मरे डार्लिंग नदी की घाटी अत्यधिक उपजाऊ हैं, जिसे रेवेरिना कहते है तथा यहाँ गेहू का उत्पादन किया जाता है।

– आस्ट्रेलिया में समुद्री हवा पूर्व से पश्चिम की ओर बहती है तथा ये हवाये ग्रेट डिवाइडिंग रेंज से जब टकराती है तो आस्ट्रेलिया के पूर्वी तट पर अर्थात ग्रेट डिवाइडिंग रेंज के पूर्व की ओर बहुत अधिक मात्रा में वर्षा प्राप्त होती हैं तथा ग्रेट डिवाइडिंग रेंज से पश्चिम की ओर बढ़ने पर वर्षा की मात्रा कम होती हैं, इसी कारण आस्ट्रेलिया का एक बड़ा भूभाग सूखाग्रस्त हैं, तथा इसी कारण आस्ट्रेलिया को ” प्यासी भूमि का देश” कहा जाता हैं।

-अतः इसी कारण आस्ट्रेलिया के पूर्वी तट पर आबादी हैं क्योंकि यहाँ खेती तथा उधोग के अनुकूल परिस्थिति हैं।

– आस्ट्रेलिया के पश्चिम क्षेत्र में बहुत बड़ा पठार इलाका पाया जाता हैं पश्चिमी क्षेत्र में वर्षा नही होने के कारण पठारी इलाका पर बहुत बड़ा रेगिस्तान बन गया है जिसे ग्रेट विक्टोरिया डेजर्ट कहा जाता हैं।

ग्रेट विक्टोरिया डेज़र्ट के अंदर भी अनेक छोटे – छोटे डेजर्ट पाये जाते है।

1- ग्रेट सैंडी डेजर्ट ( gret sandy desert)

2-  गिब्सन डेजर्ट ( Gibson desert)

3- सिम्पसन डेजर्ट

– ग्रेट डिवाइडिंग रेंज तथा ग्रेट विक्टोरिया डेजर्ट दोनों ही उच्चे भूभाग है, तथा इन दोनों उचे भूभाग के बीच समतल सपाट मैदान पाया जाता हैं जिसे मध्यवर्ती बेसिन या ग्रेट आर्टिजन बेसिन कहते है।

– बेसिन – थाला या निचला धसा हुआ भूभाग

– मध्यवर्ती बेसिन या ग्रेट आर्टिजन बेसिन के क्षेत्र में खेती करने के लिए जगह-जगह कुआं खोद दिया जाता है चुकी मध्यवर्ती बेसिन का धरातल अत्यधिक नीचे होने के कारण यहां कुआं खोदने पर पानी अपने आप बाहर आने लगता है ऐसे कुओं को उत्सुत कुप कहते हैं।

– आयर झील ऑस्ट्रेलिया का सबसे गहरा भाग है जिसके कारण इस झील में पानी की मात्रा हमेशा बनी रहती है।

– आयर झील के आसपास का भाग डाउन्स लैंड कहलाता है। यहाँ शीतोष्ण घास का मैदान पाया जाता है।

ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी भाग में 3 राज्य हैं।

1- क्वींसलैंड

2- न्यू साउथ वेल्स

3- विक्टोरिया

– न्यू साउथ वेल्स में शीतोष्ण जलवायु अर्थात प्रेयरी जलवायु पाया जाता है शीतोष्ण क्षेत्र की जलवायु सुखद एवं स्वास्थ्य वर्धक होती है। यहां पर लंबे मुलायम घास के मैदान पाए जाते हैं।

– ऑस्ट्रेलिया में इन लंबे मुलायम घास के मैदानों अर्थात शीतोष्ण घास के मैदान को डाउंस कहते हैं।

शीतोष्ण घास के मैदान अलग-अलग महाद्वीप पर अलग अलग नाम से जाने जाते हैं।

1- usa और कनाडा – प्रेयरी

2- अर्जेटीना – पम्पास

3- द० अफ्रीका – वेल्ड

4- आस्ट्रेलिया  – डाउन्स

5- न्यूजीलैंड  – केंटरबरी

6- यूक्रेन  – स्टेपी

7- हंगरी  – पुस्टाज

– ऑस्ट्रेलिया खनिज की दृष्टि से समृद्ध देश है।

– ऑस्ट्रेलिया के दक्षिणी पश्चिमी भाग में,

कालगुर्ली

कुलगार्डी – सोना पाया जाता हैं।

– ऑस्ट्रेलिया का विश्व में सोना उत्पादन में दूसरा स्थान प्राप्त है।

– विश्व में सर्वाधिक सोना उत्पादन चीन में होता है।

– ऑस्ट्रेलिया के पूर्वी भाग में केपयार्क प्रायद्वीप है। केपयार्क के प्रायद्वीप में वाइपा की खान है जहां से बॉक्साइट का उत्पादन होता है।

– ऑस्ट्रेलिया का विश्व में बॉक्साइट उत्पादन में दूसरा स्थान प्राप्त है।

– विश्व में सर्वाधिक बॉक्साइट का उत्पादन चीन में होता है।

– अरनाहमहम लैंड से भी ऑस्ट्रेलिया में बॉक्साइट का उत्पादन होता है।

– ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी क्षेत्र में पल्लिवारा खनन क्षेत्र से लोहा का उत्पादन किया जाता है।

– ऑस्ट्रेलिया के माउंट ईसा के खान से शीशा, जस्ता, तांबा, चांदी पाया जाता है।

Note- जहां शीशा पाया जाता है वहां जस्ता भी पाया जाता है इसलिए सीसा और जस्ता को “जुड़वा खनिज” कहा जाता है।

– ऑस्ट्रेलिया का माउंट ब्रोकन हिल सीसा और जस्ता के लिए जाना जाता है।

ऑस्ट्रेलिया का एकमात्र महत्वपूर्ण शहर पर्थ ऑस्ट्रेलिया के पश्चिमी तट पर है।

– पर्थ को सिडनी से ट्रांस ऑस्ट्रेलियन रेल मार्ग द्वारा जोड़ दिया गया है।

Comments

comments

3 thoughts on “आस्ट्रेलिया महाद्वीप का अध्ययन (विश्व भूगोल अध्याय-14 )

  1. Sir.mai yah janana chahta hu ki jo hamare mail par jo Qution & ans ate hai vahi nots hai ya kuch our nots me alg websit par chadhate hai.

  2. Sir would you like to write note in Target with alok pattern. It would be more beneficial.
    Please launch a booklet of Geography

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Top